By SONU Arora | July 30, 2020 | 0 Comments

Career Counselling: दुविधा से निकलने की ढूंढ़ें तरकीब; बीकॉम के बाद बैंकिंग जॉब या MBA; IAS की तैयारी 12वीं के बाद से ही

इस तरह की दुविधा से  ज्यादातर युवा गुजरते हैं, इसलिए इसे लेकर बहुत ज्यादा परेशान होने की बजाय समाधान के बारे में सोचना चाहिए। यह समाधान कहीं और नहीं, बल्कि आपके पास, आपके भीतर ही है। दरअसल, ज्यादातर युवा सफलता के पीछे भागने की कोशिश में यह भूल जाते हैं कि जिधर वे जाना चाहते हैं, वास्तव में उसमें उनकी रुचि है भी या नहीं? यही कारण है कि यह दौड़ मृग मरीचिका बन जाती है, जो कभी खत्म होने का नाम नहीं लेती। अंतत: इससे हताशा, निराशा और अवसाद होने की आशंका होती है। इससे बचने का उपाय यही है कि आप सबसे पहले खुद के ‘पैशन’ को समझने का प्रयास करें।

Leave a Comment